अजीब परंपरा के नाम पर यहां की लड़कियों को 15 दिनों रखा जाता है

परंपराओं और रीति रिवाजों के कारण भारतीय संस्कृति सदैव एक विषय बना रहता है। कुछ ऐसी परंपराएं भी है जो बहुत ही अजीब है लेकिन सत्य है। ऐसी ही एक परंपरा पिछले कई दशकों से तमिलनाडु के मैदूर जिले में स्थित येजाइकाथा अम्मान मंदिर में निभाई जाती है। यहां देवी पूजा के नाम पर लड़कियों को 15 दिनों तक बिना वस्त्र रखने की रस्म निभाई जाती है। इतना ही नहीं माता पिता खुद अपनी बेटी को इस रस्म का हिस्सा बनने के लिए यहां भेजते है।

ज्यादा मात्रा में ली पावर बढ़ाने वाली गोली, एयरपोर्ट पर उतरे कपडे !!

आसपास के करीब 60 गांवों के लोगों का मानना है कि यदि इस अनुष्ठान के लिए उनकी बेटी का चयन होता है तो उनकी लड़की भग्यशाली है। इस रस्म की शुरूआत होती है पंडित के सामने परेड से जी हां एक पुरूष पंडित के सामने पहले इच्छुक लड़कियां परेड निकाती है उसके बाद वह पंडित उन लड़कियों में से 7 लड़कियों को इस अनुष्ठान के लिए चुनता है। जिसके बाद उन लड़कियों को 15 दिनों तक मंदिर के एक कक्ष में बिना वस्त्र रखा जाता है लड़कियों को कमर से उपर कुछ भी पहनने की इजाजत नहीं होती वे इन 15 दिनों तक ऐसे ही अर्धनग्न अवस्था में मंदिर के पुजारी की देखरेख में रहती है।

ROYAL ENFIELD THUNDERBIRD 500X बाइक को जल्द करेगा लॉन्च, जाने कीमत

इन 15 दिनों के दौरान लड़कियों को किसी से मिलने की इजाजत नहीं मिलती यहां तक की वे अपने मात-पिता से भी नहीं मिल सकती। पूजा पाठ के इन 15 दिनों तक इन लड़कियों के उपरी हिस्से में सिर्फ फूल माला और जेवर होते है। प्राचीन समय से चली आ रही इस परंपरा में आसपास के 60 गांवों के लोग हिस्सा लेते है।



नए अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारा Android एप्प Download करें और सब से पहले नई पोस्टें प्राप्त करें


loading...