ठंड के मौसम में गाड़ियों में आने वाली दिक्कतें से बचने के लिए जाने टिप्स

हेलो दोस्तों आज हम आप को एक ऐसा टिप्स बताने जा रहे है जिसे जान कर आप बहुत खुश होंगे दोस्तों बहुत से लोग है आज जिनके पास अपनी खुद की गद्दी है आज हम अपनों ठंड के मौसम में गाड़ियों में दिक्कतें आने होती है उनसे कैसे बचा जा सकता है इसके बारे में बताएंगे। इन दिक्कतों में गाड़ियों का मुश्किल से स्टार्ट होना, स्टार्ट होने के बाद पिकअप में समय लेना, हॉर्न का न बजना और लाइट्स डिम हो जाना प्रमुख होता है। हालांकि आप कुछ सावधानियां और टिप्स को फॉलो कर इन समस्याओं से निजात पा सकते हैं। हम अपनी इस खबर में आपको इसी के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

ऑटो एक्सपर्ट मानते हैं कि सर्दियों में कार की फुल सर्विस, बैटरी, लाइटिंग, इलेक्ट्रिकल सिस्टम, कूलेंट और टायर्स का विशेष ख्याल रखना चाहिए।
1. बैटरी का रखें विशेष ख्याल, तो सर्दियों में नहीं होगी कोई परेशानी:
बैटरी को कार का अहम हिस्सा माना जाता है क्योंकि कार की बैटरी ही गाड़ी को स्टार्ट करती है, अगर बैटरी 3 साल से ज्यादा पुरानी हो गई हो, तो उसे बदल लें या फिर मैकेनिक से चेक करवा लें। इसके अलावा अगर कार की लाइट्स डिम हो गईं हो या फिर हॉर्न बजाते समय आवाज ठीक तरह से नहीं आ रही है तो इसका मतलब है कि बैटरी खराब होना शुरू हो गई है। ऐसे में आप खुद भी बैटरी चेक कर सकते हैं और अगर बैटरी के टर्मिनल पर सफेद-पीला पाउडर जमा हो रहा है तो उसे गर्म पानी के साथ हार्ड ब्रश से साफ कर लें।

2. कार की सर्विस कराना है सबसे जरूरी:
सर्दियों में लोग सुबह-सुबह गाड़ी स्टार्ट न होने की वजह से परेशान हो जाते हैं। इस मौसम में सबसे ज्यादा उन गाड़ियों को दिक्कतें आती हैं जिनकी सर्विस ठीक से या फिर समय पर नहीं करवाई जाती है। इसलिए अगर सर्दियों में कहीं लंबी दूरी की यात्रा करने जा रहे हैं तो कार की सर्विस जरूर करवाएं। कार की सर्विस इसलिए जरूरी है कि इंजन में डलने वाले इंजन ऑयल की क्वालिटी बिलकुल ठीक होनी चाहिए क्योंकि अगर ऑयल ल्युब्रीकेशन नहीं देगा तो इसमें इंजन के खराब होने के मौके ज्यादा होते हैं। इस मौसम में कार और बाइक दोनों के लिए इनकी सर्विस होना बेहतर जरूरी है।

3. इलेक्ट्रिकल सिस्टम भी करते रहें चेक:
सर्दियों के मौसम में कार का इलेक्ट्रिकल सिस्टम जैसे स्पार्क प्लग, लाइटिंग और वायरिंग की ठीक से जांच करवा लेनी चाहिए क्योंकि कार स्टार्ट ना होने का एक कारण स्पार्क प्लग भी होता है। स्पार्क प्लग टर्मिनल, इंसुलेटर, रिब्स, सील्स और सेंट्रल इलेक्ट्रॉट से बना होता है जिसकी मदद से यह लंबे समय तक इंजन को चालू रखने में मदद करता है। वहीं, सर्दियों में ड्राइविंग के दौरान लाइटिंग भी बेहद जरूरी होती है क्योंकि सूरज दिन के समय जल्दी ढल जाता है और कार की हेडलाइट्स और फॉग लाइट्स दोनों की लगातार लंबे समय तक इस्तेमाल की जाती हैं। इसलिए लाइट्स का भी बेहद ख्याल रखें और खराब होने पर इनकी वायरिंग की जांच करवाएं या फिर इन्हें तुरंत बदलवा लें।

4. कूलेंट को समय-समय पर चेक करते रहें:
गर्मियों के अलावा सर्दियों के समय में भी कार में कूलेंट का होना बेहद जरूरी है। कूलेंट को एंटीफ्रिज के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि ठंडे तापमान में यह आपके इंजन को फ्रीज होने से बचाता है। कूलेंट का काम सिर्फ यह नहीं होता कि वह गर्म इंजन को ठंडा करता है बल्कि यह इंजन को नॉर्मल तापमान में रखता है। इसलिए मौसम चाहे कोई भी हो कार में कूलेंट हमेशा टॉप-अप रहना चाहिए।

5. टायर्स की देखभाल भी जरूरी:
सर्दियां हो या गर्मियां, टायर्स का हमें हमेशा ध्यान रखना चाहिए। सर्दियों के समय में टायरों में हवा का प्रेशर ठीक होना चाहिए क्योंकि ठंडे मौसम में नमी की वजह से सड़कें गीली रहती हैं गीली सड़कों पर गाड़ी के फिसलने का डर ज्यादा रहता है। इसलिए सर्दियों में लंबी दूरी की यात्रा करते समय टायर्स की जांच करवा लेनी चाहिए, उनके अंदर के ट्रेक को चेक करवा लेना चाहिए। अगर टायर घिस गए हों तो उन्हें बदलवा लेना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि शहर में तो मैकेनिक आसानी से मिल जाएंगे, लेकिन लंबी दूरी की यात्रा के दौरान अगर आप किसी ऐसी जगह फंस जाएं जो एक ग्रामीण इलाका हो तो वहां आपको मदद मिलना थोड़ा मुश्किल होता है।


loading...